Welcome to JCILM GLOBAL

Helpline # +91 6380 350 221 (Give A Missed Call)

आप जो देखते हैं और महसूस करते हैं, उसके आधार पर संसार ने आपको चीजों को कहने के लिए तैयार किया है, लेकिन ईश्वर कहते हैं कि आपको चीजों को अपने वचन में ईश्वर ने जो कहा है, उसके आधार पर कहना है, न कि आप जो देखते हैं और महसूस करते हैं•••••
आप जो देखते हैं और महसूस करते हैं वह तथ्य हैं। जब आप वह बोलते हैं जो परमेश्वर तथ्यों के बारे में कहता है, उसका वचन जो सत्य है और कभी नहीं बदलता है, उसमें तथ्यों को नए तथ्यों में बदलने की शक्ति होती है जो परमेश्वर के वचन के साथ संरेखित होते हैंl•••
परमेश्वर के वचन के अनुसार आप जो बोलते हैं उस पर विश्वास करें – वह हो जाएगा..!
“हमारे पास वही विश्वास की आत्मा है जो धर्मग्रंथ में वर्णित है जब वह कहता है, “पहले मैंने विश्वास किया, फिर मैंने विश्वास में बात की।” तो हम भी पहले विश्वास करते हैं फिर विश्वास में बोलते हैं। ”……..”(2 कॉरिंथियों 4:13‬)

Archives

May 22

Remember this: Whoever turns a sinner from the error of his way will save him from death and cover over a multitude of sins. – James 5:20. When someone wanders

Continue Reading »

May 21

God made him who had no sin to be sin for us, so that in him we might become the righteousness of God. —2 Corinthians 5:21. Jesus was perfect, spotless,

Continue Reading »

May 20

Jesus did not let [the man from whom he had cast out a legion of demons] come with him, but said, “Go home to your family and tell them how

Continue Reading »